सिंघु बॉर्डर पर पहले उसकी लिंचिंग हुई, काटकर टांग दिया गया और फिर पंजाब में उसे रात के अंधेरे में तेल डालकर जला दिया गया। लेकिन कोई शोर नहीं होगा क्योंकि यह सब यूपी के हाथरस में नहीं हुआ, क्योंकि मारनेवाले से वोट है, मरनेवाले से नहीं।

Read More