Home > मुख्य ख़बरें > UP: डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, सर्जरी के दौरान महिला के पेट में छोड़ दिया कपड़ा

UP: डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, सर्जरी के दौरान महिला के पेट में छोड़ दिया कपड़ा

शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां के एक अस्पताल के डॉक्टरों पर कथित रूप से आरोप है कि उन्होंने एक प्रेग्नेंट महिला का सिजेरियन ऑपरेशन करते समय उसके पेट में कपड़ा छोड़ दिया जिसकी वजह से अब महिला की हालत गंभीर है और उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है.

नोट : सेकुलरिज्म के चक्कर में टीवी मीडिया आपसे कई महत्वपूर्ण ख़बरें छिपा लेता है, फेसबुक और ट्विटर भी अब वामपंथी ताकतों के गुलाम बनकर राष्ट्रवादी ख़बरें आप तक नहीं पहुंचने दे रहे. ऐसे में यदि आप सच्ची व् निष्पक्ष ख़बरें पढ़ना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करके Bharti News App अपने फ़ोन में इनस्टॉल करें.



Bharti News एक ऑनलाइन News चैनल है, जो आपको ताज़ा खबरों से अपडेट रखता है. मनोरंजक और रोचक खबरों के लिए Subscribe करें Bharti News का यूट्यूब चैनल.

6 जनवरी को हुआ था ऑपरेशन 

गर्वमेंट मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने इसी साल 6 जनवरी को महिला का ऑपरेशन किया था. महिला को गंभीर हालत में किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मामले में संज्ञान लेते हुए मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने एक तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की है जिसे जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है.

डिलीवरी के दौरान पेट में छोड़ा कपड़ा

 

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल राजेश कुमार के मुताबिक, रामपुर उत्तर के निवासी मनोज ने इस मामले में तिलहर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनकी 30 वर्षीय पत्नी नीलम ने 6 जनवरी को एक बच्ची को जन्म दिया था. बच्ची के जन्म के समय ही डॉक्टरों ने ऑपरेशन के दौरान नीलम के पेट में कपड़ा छोड़ दिया.

गठित हुई जांच कमेटी 

राजेश कुमार ने ​कहा कि शिकायत मिलते ही उन्होंने एक जांच कमेटी गठित की है और इसकी रिपोर्ट के आधार पर जो भी इसमें दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

महिला के पति ने बताया कि बच्ची के जन्म के बाद से ही उनकी पत्नी को लगातार पेट दर्द की शिकायत रहती थी. उन्होंने कई प्राइवेट डॉक्टरों से इलाज करवाया लेकिन वो ठीक नहीं हुईं. इसके बाद नीलम को शाहजहांपुर के प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया. यहां जांच के दौरान सीटी स्कैन में पता लगा कि महिला के पेट में डॉक्टरों ने कपड़ा छोड़ दिया था.

वेंटिलेटर पर महिला 

महिला की हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी, जिसके बाद उन्हें लखनऊ ट्रॉमा सेंटर में एडमिट कराया गया. ​महिला के पिता ने बताया कि उनकी हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है और वह वेंटिलेटर पर हैं.

.

हमें आप जैसे राष्ट्रवादी लोगों के सहयोग की जरुरत है, जो "राष्ट्र प्रथम" पत्रकारिता में अपना सहयोग देना चाहते हों. देश या विदेश, कहीं से भी सहायता राशि देने के लिए नीचे दिए बटन पर क्लिक करें.

App download

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुडी सभी ख़बरें सीधे अपने मोबाईल पर पाने के लिए Bharti News App डाउनलोड करें.

YouTube चैनल सब्स्क्राइब करें