Home > मुख्य ख़बरें > पीएम किसान की 9वीं किस्त जारी करने की हो रही तैयारी, जानें किस स्टेज पर है प्रॉसेस

पीएम किसान की 9वीं किस्त जारी करने की हो रही तैयारी, जानें किस स्टेज पर है प्रॉसेस

देश के 12 करोड़ से अधिक किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि की अगस्त-सितंबर की किस्त का इंतजार है। मोदी सरकार ने भी इसे जारी करने की तैयारी शुरू कर दी है। अगर आप जानना चाहते हैं कि 9वीं किस्त का 2000 रुपया कब मिलेगा तो सबसे पहले अपना स्टेटस चेक करें। 

नोट : सेकुलरिज्म के चक्कर में टीवी मीडिया आपसे कई महत्वपूर्ण ख़बरें छिपा लेता है, फेसबुक और ट्विटर भी अब वामपंथी ताकतों के गुलाम बनकर राष्ट्रवादी ख़बरें आप तक नहीं पहुंचने दे रहे. ऐसे में यदि आप सच्ची व् निष्पक्ष ख़बरें पढ़ना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करके Bharti News App अपने फ़ोन में इनस्टॉल करें.



Bharti News एक ऑनलाइन News चैनल है, जो आपको ताज़ा खबरों से अपडेट रखता है. मनोरंजक और रोचक खबरों के लिए Subscribe करें Bharti News का यूट्यूब चैनल.

स्टेटस चेक करने के लिए आप पीएम किसान के पोर्टल पर जाएं और दाएं साइड में दिए गए बटन Beneficiary Status पर क्लिक करें। इसके बाद एक अलग पेज दिखाई देगा, जिसमें आप अपने मोबाइल नंबर या आधार नंबर या फिर बैंक अकाउंट नंबर डालकर Get Data पर क्लिक करें। आपके सामने कुछ इस तरह खुल कर आएगा।

इसमें आपके आवेदन करने से लेकर आने वाली किस्त तक का स्टेटस दिखेगा। उदाहरण के लिए ऊपर वाली तस्वीर को देखें। इसमें लाभार्थी को कुल 7 किस्तें मिल चुकी हैं और 8वीं यानी अगस्त-नवंबर की आने वाली है। इसमें Waiting for approval by State शो कर रहा है। इसका मतलब है कि अभी इस लाभार्थी की किस्त आने में थोड़ी देर लगेगी। इसका मतलब ये है कि  राज्य सरकार ने अभी मंजूरी नहीं दी है। जैसे ही राज्य सरकार लाभार्थी द्वरा उपलब्ध कराए गए दास्तावेजों को वेरीफाई कर लेगी वैसे ही केंद्र को Rft Sign करके भेज देगी।

लाभार्थियों को किस्त जारी करने की ये है प्रक्रिया

  • पीएम किसान के लाभार्थियों की किस्त एक विशेष वेब-पोर्टल https://pmkisan.gov.in/  बनाया गया है। इसके जरिए राज्य/संघ शासित प्रदेशों की सरकारों द्वारा लाभार्थियों के डेटा को अपलोड किया जाता है।
  • योजना के पात्र किसान ग्राम पटवारियों, राजस्व अधिकारियों, नामित अधिकारी या एजेंसियों के पास या ऑनलाइन आवेदन करते हैं।  ​​
  •  ब्लॉक और जिला स्तर पर राज्य / केंद्र शासित प्रदेश सरकारों द्वारा नियुक्त नोडल अधिकारी आवेदन की जांच करते हैं और उन्हें राज्य नोडल अधिकारियों (एसएनओ) को ट्रांसफर कर देते हैं।
  • राज्य नोडल अधिकारी अंततः डेटा को प्रमाणित करते हैं और उन्हें बैचों में अपलोड करते हैं। इनके द्वारा अपलोड किए गए लाभार्थियों का डेटा, राज्य नोडल अधिकारी, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनएलसी), Public Finance
  • Management System (PFMS) और बैंक सत्यापित/मान्य डेटा के आधार पर एसएनओ Request For Transfer
  • (RFT) के लिए हस्ताक्षर करते हैं।
  • आरएफटी के आधार पर पीएफएमएस एक फंड ट्रांसफर ऑर्डर (एफटीओ) जारी करता है।
  •  एफटीओ के आधार पर कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग एफटीओ में उल्लिखित राशि के लिए स्वीकृति आदेश जारी करता है।
  • राशि को लाभार्थियों के बैंक खातों में स्थानांतरित किया जाता है, जो मान्यता प्राप्त बैंक, डाकघर, ग्रामीण बैंक, सहकारी बैंक या कोई अन्य वित्तीय संस्थान हो सकता है

हमें आप जैसे राष्ट्रवादी लोगों के सहयोग की जरुरत है, जो "राष्ट्र प्रथम" पत्रकारिता में अपना सहयोग देना चाहते हों. देश या विदेश, कहीं से भी सहायता राशि देने के लिए नीचे दिए बटन पर क्लिक करें.

App download

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुडी सभी ख़बरें सीधे अपने मोबाईल पर पाने के लिए Bharti News App डाउनलोड करें.

YouTube चैनल सब्स्क्राइब करें